MA full form in Hindi

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आप को MA के बारे में पता होगा क्यों की अक्सर छात्र BA करने के बाद MA करना पसंद करते है लेकिन अगर छात्रों से MA का फुल फॉर्म पूछ दिया जाए तो काफी कम छात्र होंगे जो इसका फुल फॉर्म बता पाएंगे लेकिन आपको घबड़ाने की कोई जरुरत नहीं है क्यों की आज मैं आपको MA के फुल फॉर के साथ-साथ इसके बारे में बहुत सी महत्पूर्ण जानकारी देने वाला हु ताकि आपसे अगर कोई MA के बारे कुछ पूछ दे तो आप उसका जवाब तुरंत देदो और आगे चल कर आपको किसी भी समस्या का सामना ना करना पड़े तो चलिए शुरू करते है। …

MA full form in hindi

( हिंदी )

मास्टर ऑफ आर्ट 

( English )

Master Of Arts 

MA कोर्स  क्या है ? 

दोस्तों जैसा की आपको पता ही होगा की MA एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है इसे आप अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद आसानी से कर सकते है इस कोर्स के अंतर्गत आपको आर्ट्स के रिलेटेड बहुत विस्तार में नॉलेज दिया जाता है ताकि आप भविष्य में अच्छे प्रोफेसर बन पाए क्यों की MA का मुख्य उद्देश्य आपको प्रोफेसर बनना  होता है | 

दोस्तों जैसा की आप को  मालूम ही होगा की  MA पुरे भारत में बहुत ही मशहूर पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है क्यों  की इसे पूरा करने के बाद आपको बहुत सारे सरकारी नौकरी के फॉर्म भरने का मौका मिल जाता है दोस्तों सामान्यतः MA को करने के लिए किसी को भी 2 वर्ष लगता है लेकिन अगर आप  किसी विषय में फ़ेल हो जाते तो आपको  जायदा समय लग सकता है पर 95% छात्र 2 साल में ही इस कोर्स को पूरा कर लेते है और मुझे 100% उम्मीद है की आप भी कर लोगे |  

ये भी पढ़े… 

MA कोर्स के लिए योग्यता ? 

दोस्तों MA कोर्स के लिए सबसे पहली योग्यता तो ये  होनी चाहिए की आपको 12th पास होना होगा उसके बाद सारी योग्यताएं नीचे निम्न है  

  • दोस्तों जैसा की आपको पता ही होगा की MA एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री है तो इसको करने के लिए आपके पास BA यानि ( बैचलर ऑफ़ आर्ट ) की डिग्री होना एक दम अनिवार्य है 
  • अगर BA 50% हो तो एडमिशन में कोई समस्या नहीं होगी 
  • बड़े यूनिवर्सिटी से MA करने में आपको औसतन 30 से 40 हज़ार तक फीस लग सकता है
  • अगर आप चाहें तो अपने नजदीकी यूनिवर्सिटी में से कम पैसे में भी कर सकते है 
  • दोस्तों फीस के बारे में सही-सही जानकारी लेने के लिए आपको अपने नजदीक collage में जाकर इसके बारे में विस्तार से पता लगा लेनी चाहिए क्यों की हर जगह फीस अलग-अलग होती है 
  • आप इसमें रेगुलर या फिर प्राइवेट एडमिशन ले कर इसे बिलकुल आसानी से कर सकते है 
  • दोस्तों अगर आप BA के जगह Bs.c लेकर अपना ग्रेजुएशन पूरा करते है तो आपको MA में एडमिशन नहीं मिल पाएगा क्यों की Bsc साइंस फील्ड हो जाएगा और साइंस फील्ड से होकर आप MA नहीं कर सकते इसलिए आपको MA करना है तो पहले BA करना चाहिए वो भी 50% के साथ   

MA में कौन से सब्जेक्ट पढ़ाए जाते है ? 

दोस्तों अगर MA के कोर्स के बारे में मोटा-मोटी बात की जाए तो इस कोर्स में आपको आर्ट्स की पुरे विस्तार से जानकारी दी जाती है ताकि आप आगे चल कर अच्छे प्रोफेसर बन सको लेकिन कुछ जो कॉमन सब्जेक्ट्स है मैं उसके बारे में आपको बताना चाहूंगा जैसे की….

  • Economic 
  • English 
  • Geography 
  • Sociology 
  • History 

ये भी पढ़े… 

MA करने के फायदे क्या-क्या  है ? 

दोस्तों वैसे तो MA के सैकड़ो फायदे है लेकिन उनमे से जो कुछ खास फायदे है मैं उन्हें आपको बताना चाहता हु जैसे की सबसे बड़ा फायदा ये है की आपको नौकरी बड़ी आसानी से मिल जाएगा , क्यों की MA कोर्स पे गोवेर्मेंट जॉब की बहुत सारी नौकरिया हमेसा आती रहती है और वो भी काफी अच्छे-अच्छे फील्ड में जैसे की 

  • टीचर  
  • मेडिकल
  • सामाजिक कार्यों में 
  • मीडिया 
  • बड़े यूनिवर्सिटी में प्रोफेशर इत्यादि

Conclusion 

दोस्तों मुझे  पूरी उम्मीद है की आपको MA  फुल  फॉर्म  इन हिंदी वाला  यह आर्टिकल[ पूरा अच्छे  से समझ  आया होगा लेकिन अगर फिर भी कुछ समझ नहीं आया हो तो या फिर आपके मन में MA  को लेकर कोई सवाल हो तो आप वो मुझसे कमेंट बॉक्स में नीचे पूछ सकते है मुझे आपकी मदद करके काफी खुशी होंगी , लेकिन अगर आप  किसी दूसरे टॉपिक का फुल फॉर्म जानना चाहते है तो उसके बारे में भी आप मुझे कमेंट बॉक्स में बता सकते मैं आपको उसके बारे  जानकारी  देने जल्द-जल्द कोसिस करूँगा |   

ये भी पढ़े… 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *