(RSS) आरएसएस का फुल फॉर्म हिंदी में : RSS full form In Hindi

दोस्तों क्या आप RSS का फुल  फॉर्म जानना चाहते है अगर हा तो आप बिकुल सही जगह पर है क्यों की आज मैं आपको RSS ( आरएसएस ) के फुल फॉर्म के साथ-साथ इसके बारे में और भी बहुत सी महत्वपूर्ण जानकारियां देने वाला हु ताकि कम जानकारी की वजह से आप किसी गलत फैमिली का शिकार ना हो | 

सामान्यतः  RSS एक प्रकार का हिंदी संगठन है तथा इसका उद्देश्य यह है की भारत के समृद्धशाली , स्नातक संस्कृत के मूल को समृद्ध का प्रयास किया जाता है तथा इसमें हमेशा से फैली हुवी समाज में वर्ग-भेद का विरोध किया जाता है , यह भेद कुछ इस तरह है की जाती – पति , धर्म , तथा लोगों में ऊंच नीच का भेद को ख़तम करने का प्रयास किया जाता है , और जब भी कोई बड़ी आपदा आती है तो RSS के सहकर्मिओ द्वारा राहत बचाओ आंदोलन भी चलाया जाता है ,और बहुत बड़े अस्तर पर RSS दवारा सहायता प्रदान की जाती है , इसी लिए आज मैं आपको RSS का फुल फॉर्म बताने वाला हु | 

RSS full form 

  ( हिंदी )

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ 

( English )

Rashtriya SwayamSevak Sangh  

यह एक प्रकार की संस्था हैं जो लोगों के हित मे काम करती है , तथा इसे बहुत से लोग गैर सरकारी भारतीय संस्था कहते है लेकिन यह एक हिंदुत्व राष्ट्रवादी संस्था है तथा इसका मूल आधार भी  हिन्दू धर्म है ,तथा यह एक अर्धसैनिक सरम सेवक के रूप में काम  करता है आज के समय में लगभग भारत के सभी व्यक्ति इससे परिचित है तथा हिन्दू धर्म के लोगों के द्वारा इसे बहुत ज्यादा सहायता प्रदान की जाती है |    

ये भी पढ़े… 

RSS क्या है ,इसका मतलब क्या है ? 

लोग सबसे ज्यादा यही जानना चाहते है की RSS क्या है तथा इसका मतलब क्या है तो मैं आपको बताना चाहूंगा की RSS एक प्रकार की बहुत बड़ी संस्था है जो भारत के लोगो की बहुत बड़े अस्तर पर सेवा करती है 

तथा आरएसएस दुनिया का सबसे बड़ा सवयसेवक संगठन है और इसके साथ-साथ RSS एक अभियान और सवयसेवक मंच है जिसका उद्देश्य देश में सामाजिक , आर्थिक, नकरीक जैसे हर तरीको से समाज का कल्याण करना है ,तथा हमेसा अपने संघ में नाइ योजनाओ का निर्माण करना तथा उसको लागु करना , और अगर भारत सर्कार भी देश हीत में कोई काम करता है तो यह हमेसा उसके हित में रहता है और उसे लागु करने में सर्कार की बहुत मदद करता है , उसके लिए RSS भारत सर्कार के तरफ से बहुत सारे पुरुस्कार भी जित चूका है, तथा इसे बहुत बार सम्मनिती भी किया जा चूका है जी की हम सभी भारतीओ के लिए गौरव की बात है | 

RSS का इतिहास क्या है ?  

आज RSS तो हर व्यक्ति ज्वाइन करना चाहता है लेकिन क्या आपको RSS का इतिहास पता है मुझे उम्मीद है की बहुत कम ही लोगों को RSS का इतिहास पता होगा लेकिन अगर आपको RSS का इतिहास नहीं पता है तो घबड़ाने की जरुरत नहीं है क्यों की आज मैं आपको RSS का पूरा इतिहास बताने वाला हु , दोस्तों RSS की नामकरण  17 अप्रैल 1926 को 17 लोगो की टीम बना कर केशव बलिराम हेडगेवार के द्वारा किया गया था , उस समय इस राष्ट्र को हिन्दू राष्ट्र के रूप में बनाना था , तथा आज के समय में यह संगठन विश्व का सबसे बड़ा संगठन है और इसमें आज के दौर में करोडो लोग काम करते है और इस संस्था को आगे बढ़ाने का काम करते  है | 

RSS की स्थापना कब हुयी थी, और किसने की थी ?

लोगों के मन से सबसे ज्यादा सवाल यही आता है की RSS की स्थापना कब हुयी थी और RSS की स्थापना किसने की थी तो मैं आपको बताना चाहूंगा की RSS की स्थापना 27 सितंबर सन 1925 को केशव बलिराम हेडगेवार के द्वारा किया गया था इस संस्था के स्थान पर विजयदशमी का त्योहार बड़े धूम धाम से मनाया गया था , तथा RSS का मुख्यालय नाग पुर में है तथा नागपुर सहर महाराष्ट्र में इस्तिथ है , और इस संगठन का सबसे अच्छी बात मुझे ये लगती है की अगर आप इस संस्था में सम्मलित होना चाहते है तो आपसे कोई फीस नहीं लिया जाता है इसी लिए इसकी सदस्यता लेना बहुत ही आसान है बस आपका  हिन्दू होना अनिवार्य है इस लिए अगर आप इस संस्था में  बलकुल आसानी से शामिल हो सकते है | 

ये भी पढ़े… 

( FAQ ) 

आरएसएस रजिस्ट्रेशन नंबर ? 

लोग हमेशा RSS का रजिस्ट्रेशन नंबर ढूंढते रहते है पर मैं आपको सलाह दूंगा की आप RSS का रजिस्ट्रेशन नंबर ढूंढने के अलावा  RSS के ऑफिस में जाकर इसके बारे में विस्तार से पता लगा सकते है
नंबर: 011-2367-9996 

RSS whatsapp number ?

आज कल हर व्यक्ति चाहता है की हमारे पास RSS का व्हाट्सएप नंबर हो इसलिए मैं आज आपको RSS का नंबर देने वाला हु  
नंबर: 011-2367-9996 

Conclusion 

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और आपके मन में RSS से संबंधित जितने भी सवाल रहे होंगे आपको उन सारे सवालो के जवाब मिल गए होंगे लेकिन फिर भी अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप मुझसे पूछ सकते हो मुझे आपकी मदद करके काफी खुशी मिलेगी , या फिर अगर आप किसी दूसरे ट्रोपिक के बारे में जानना चाहते है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में बता सकते है मैं आपको उस ट्रोपिक के बारे में जानकारी देने की पूरी कोशिश करूँगा | 

ये भी पढ़े… 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *